♦ आपली इयत्ता निवडा ♦

१ ली २ री ३ री ४ थी ५ वी ६ वी ७ वी ८ वी ९ वी १० वी

Iit Delhi Female Scientists Develops Reusable Anti Virus Mask Availabe In Cheap Rate – आईआईटी दिल्ली की महिला वैज्ञानिकों ने बनाया एंटी वायरस मास्क, 50 बार किया जा सकता है इस्तेमाल




अमर उजाला नेटवर्क, नई दिल्ली
Updated Wed, 06 May 2020 06:08 PM IST

महिला वैज्ञानिकों ने बनाया दोबारा प्रयोग होने वाला एंटी वायरस मास्क
– फोटो : अमर उजाला

ख़बर सुनें

कोरोना महामारी के दौरान लोगों को सुरक्षित रखने में मास्क बेहद मददगार साबित हुआ है। सामान्य मास्क की मदद से भी संक्रमण को फैलने से रोकने में काफी सफलता मिली है। इसी बीच आईआईटी दिल्ली की दो महिला वैज्ञानिकों ने दोबारा प्रयोग होने वाला एंटी वायरस मास्क तैयार किया है।

इस एंटी वायरस मास्क को 50 बार तक प्रयोग किया जा सकता है। सबसे अच्छी बात यह है कि दो मास्क की कीमत महज 299 रुपये है।

आईआईटी दिल्ली के स्टार्टअप नैनोसेफ सॉल्यूशंस ने ‘एन सेफ’ नामक इस मास्क को बुधवार को लॉन्च किया। इसे नैनोसेफ सॉल्यूशंस के साथ जुड़ीं आईआईटी दिल्ली की पूर्व छात्रा डॉ. अनसुया रॉय और प्रो. मंगला जोशी ने मिलकर तैयार किया है। 

डॉ. अनसुया रॉय नैनोसेफ सॉल्यूशंस की संस्थापक और सीईओ हैं। वहीं प्रो. मंगला जोशी आईआईटी दिल्ली के टेक्सटाइल और फाइबर इंजीनियरिंग विभाग की प्रोफेसर के अलावा नैनोसेफ सॉल्यूशंस की संस्थापक और निदेशक भी हैं। 

कोरोना महामारी के दौरान लोगों को सुरक्षित रखने में मास्क बेहद मददगार साबित हुआ है। सामान्य मास्क की मदद से भी संक्रमण को फैलने से रोकने में काफी सफलता मिली है। इसी बीच आईआईटी दिल्ली की दो महिला वैज्ञानिकों ने दोबारा प्रयोग होने वाला एंटी वायरस मास्क तैयार किया है।

इस एंटी वायरस मास्क को 50 बार तक प्रयोग किया जा सकता है। सबसे अच्छी बात यह है कि दो मास्क की कीमत महज 299 रुपये है।

आईआईटी दिल्ली के स्टार्टअप नैनोसेफ सॉल्यूशंस ने ‘एन सेफ’ नामक इस मास्क को बुधवार को लॉन्च किया। इसे नैनोसेफ सॉल्यूशंस के साथ जुड़ीं आईआईटी दिल्ली की पूर्व छात्रा डॉ. अनसुया रॉय और प्रो. मंगला जोशी ने मिलकर तैयार किया है। 

डॉ. अनसुया रॉय नैनोसेफ सॉल्यूशंस की संस्थापक और सीईओ हैं। वहीं प्रो. मंगला जोशी आईआईटी दिल्ली के टेक्सटाइल और फाइबर इंजीनियरिंग विभाग की प्रोफेसर के अलावा नैनोसेफ सॉल्यूशंस की संस्थापक और निदेशक भी हैं। 




Source link