♦ आपली इयत्ता निवडा ♦

१ ली २ री ३ री ४ थी ५ वी ६ वी ७ वी ८ वी ९ वी १० वी

Handwara Encounter, Indian Army, Kupwara, Punjab Martyr Soldier Nayak Rajesh Kumar – हंदवाड़ा एनकाउंटर: आज घर पहुंचेगा पंजाब के शहीद नायक राजेश कुमार का पार्थिव शरीर




शहीद नायक राजेश कुमार
– फोटो : अमर उजाला

ख़बर सुनें

कश्मीर घाटी के हंदवाड़ा में शहीद हुए नायक राजेश कुमार का पार्थिव शरीर आज सरदूलगढ़ स्थित उनके पैतृक गांव राजराणा पहुंचेगा। पंजाब के मानसा जिले के इस वीर जवान के शहीद होने की खबर जैसे ही गांव पहुंची, शोक की लहर दौड़ गई।

राजेश सात साल पहले फौज में भर्ती हुए थे। उनके परिवार में माता-पिता, दो भाई और दो बहनें हैं। डीएसपी सरदूलगढ़ संजीव गोयल ने बताया कि शहीद राजेश कुमार की पार्थिव देह सोमवार को गांव पहुंचेगी। इसके बाद उनका सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया जाएगा।

परिजन को नौकरी और 10 लाख की मदद का एलान
पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने नायक राजेश कुमार की शहादत पर गहरा दुख प्रकट किया। उन्होेंने राजेश के परिवार के एक सदस्य को नौकरी और 10 लाख रुपये की वित्तीय सहायता देने का एलान किया।
रविवार सुबह जैसे ही कुपवाड़ा में भारतीय सेना के चार जवानों और जम्मू-कश्मीर के एक पुलिस कर्मी के शहादत की खबर आई, कैप्टन ने दुख में शामिल होते हुए कहा कि वे शहीद जवानों की बहादुरी और शौर्य को सलाम करते हैं। वे इस दुख की घड़ी में वाहेगुरु के आगे शहीद सैनिकों के परिजनों को हौसला प्रदान करने की अरदास करते हैं।

मुख्यमंत्री ने आतंकवादियों के इस काम को शर्मनाक और कायरतापूर्ण कार्रवाई बताते हुए कहा कि जब इस समय भारत और पाकिस्तान समेत पूरा विश्व कोविड महामारी के खिलाफ लड़ रहा है, पाकिस्तान की तरफ से सरहद पार ऐसे हमले जारी हैं। आतंकवाद को किसी भी समय अनदेखा नहीं किया सकता, लेकिन मौजूदा नाजुक समय में पाकिस्तान की ऐसी कार्रवाई शर्मनाक है।

पाक अपने निजी फायदों के लिए किसी भी मौके का प्रयोग करने के लिए तत्पर है। उन्होंने चेतावनी दी कि कोविड के विरुद्ध जंग के दौरान किसी को भी हमारे मुल्क की तरफ आंख उठाने की गलती नहीं करनी चाहिए।

कश्मीर घाटी के हंदवाड़ा में शहीद हुए नायक राजेश कुमार का पार्थिव शरीर आज सरदूलगढ़ स्थित उनके पैतृक गांव राजराणा पहुंचेगा। पंजाब के मानसा जिले के इस वीर जवान के शहीद होने की खबर जैसे ही गांव पहुंची, शोक की लहर दौड़ गई।

राजेश सात साल पहले फौज में भर्ती हुए थे। उनके परिवार में माता-पिता, दो भाई और दो बहनें हैं। डीएसपी सरदूलगढ़ संजीव गोयल ने बताया कि शहीद राजेश कुमार की पार्थिव देह सोमवार को गांव पहुंचेगी। इसके बाद उनका सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया जाएगा।

परिजन को नौकरी और 10 लाख की मदद का एलान

पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने नायक राजेश कुमार की शहादत पर गहरा दुख प्रकट किया। उन्होेंने राजेश के परिवार के एक सदस्य को नौकरी और 10 लाख रुपये की वित्तीय सहायता देने का एलान किया।


आगे पढ़ें

ऐसे समय में सेना पर हमला कायरतापूर्ण: कैप्टन




Source link