♦ आपली इयत्ता निवडा ♦

१ ली २ री ३ री ४ थी ५ वी ६ वी ७ वी ८ वी ९ वी १० वी

Csir Has Prepared A Protective Shell For The Corona Warriors – Covid-19: सीएसआईआर ने कोरोना वॉरियर्स के लिए तैयार किया सुरक्षा कवच




अमर उजाला नेटवर्क, नई दिल्ली
Updated Sun, 19 Apr 2020 02:29 AM IST

ख़बर सुनें

वैज्ञानिक एवं औद्योगिक अनुसंधान परिषद की राष्ट्रीय एयरोस्पेस प्रयोगशाला (सीएसआईआर-एनएएल) ने बंगलूरू की एमएएफ क्लोथिंग प्राइवेट लिमिटेड के साथ मिलकर कोरोना वॉरियर्स के लिए एक खास सुरक्षा कवच तैयार किया है। कई परत वाले पॉलीप्रोपलिलिन स्पून लैमिनेटेड सिंथेटिक से बना ये कवच स्वास्थ्य कर्मियों को पूरी तरह संक्रमण से दूर रखेगा। यह कोरोना से जंग लड़ रहे डॉक्टर, नर्स, पैरा मेडिकल स्टाफ और हेल्थ केयर वर्कर्स की 24 घंटे सुरक्षा सुनिश्चित करेगा।

डॉ. हरीश सी बरशिलिया और डॉ. हेमंत कुमार शुक्ला के नेतृत्व में सीएसआईआर-एनएएल की टीम ने पूरी तरह स्वदेशी सामग्री से नई तरह की प्रक्रियाओं की पहचान कर इसे बनाया है। इसका सीआईटीआरए कोयंबटूर में सख्त कसौटी पर कसा गया। टेस्ट में पास होने के बाद ही इसके विनिर्माण को अनुमति दी गई है। अब इस सुरक्षा कवच का उत्पादन बढ़ाने की योजना है। अभी चार सप्ताह के भीतर हर दिन 30 हजार सुरक्षा कवच बनाए जा सकेंगे।

सीएसआईआर-एनएएल के निदेशक जितेंद्र जे जाधव ने कहा, इस कवच की खास बात यह है कि इस तरह के अन्य कवर बनाने वाली कंपनियों की तुलना में यह खासा विश्वसनीय है। 

वैज्ञानिक एवं औद्योगिक अनुसंधान परिषद की राष्ट्रीय एयरोस्पेस प्रयोगशाला (सीएसआईआर-एनएएल) ने बंगलूरू की एमएएफ क्लोथिंग प्राइवेट लिमिटेड के साथ मिलकर कोरोना वॉरियर्स के लिए एक खास सुरक्षा कवच तैयार किया है। कई परत वाले पॉलीप्रोपलिलिन स्पून लैमिनेटेड सिंथेटिक से बना ये कवच स्वास्थ्य कर्मियों को पूरी तरह संक्रमण से दूर रखेगा। यह कोरोना से जंग लड़ रहे डॉक्टर, नर्स, पैरा मेडिकल स्टाफ और हेल्थ केयर वर्कर्स की 24 घंटे सुरक्षा सुनिश्चित करेगा।

डॉ. हरीश सी बरशिलिया और डॉ. हेमंत कुमार शुक्ला के नेतृत्व में सीएसआईआर-एनएएल की टीम ने पूरी तरह स्वदेशी सामग्री से नई तरह की प्रक्रियाओं की पहचान कर इसे बनाया है। इसका सीआईटीआरए कोयंबटूर में सख्त कसौटी पर कसा गया। टेस्ट में पास होने के बाद ही इसके विनिर्माण को अनुमति दी गई है। अब इस सुरक्षा कवच का उत्पादन बढ़ाने की योजना है। अभी चार सप्ताह के भीतर हर दिन 30 हजार सुरक्षा कवच बनाए जा सकेंगे।

सीएसआईआर-एनएएल के निदेशक जितेंद्र जे जाधव ने कहा, इस कवच की खास बात यह है कि इस तरह के अन्य कवर बनाने वाली कंपनियों की तुलना में यह खासा विश्वसनीय है। 




Source link