♦ आपली इयत्ता निवडा ♦

१ ली २ री ३ री ४ थी ५ वी ६ वी ७ वी ८ वी ९ वी १० वी

Ministry Of Home Affairs Issues Guidelines No Movement Of Labour Outside The State Ut From Where They Are Currently Located – Lockdown : गृह मंत्रालय ने विभिन्न राज्यों में फंसे मजदूरों को वहीं रहने का दिया निर्देश




न्यूज डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली
Updated Sun, 19 Apr 2020 03:37 PM IST

पलायन करते मजदूर (फाइल फोटो)
– फोटो : PTI

ख़बर सुनें

कोरोना वायरस का प्रकोप थमने का नाम नहीं ले रहा है। वायरस के प्रसार को रोकने के लिए राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन लागू किया गया है। इस कारण बहुत से प्रवासी मजदूर दूसरे राज्यों में फंस गए हैं। वहीं, गृह मंत्रालय ने निर्देश दिया है कि ये मजदूर फंसे हुए राज्यों से बाहर नहीं जा सकते हैं।

गृह मंत्रालय ने रविवार को राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों में फंसे मजदूरों की आवाजाही के लिए स्टैंडर्ड ऑपरेटिंग सिस्टम जारी किया है। इसमें कहा गया है कि वर्तमान में विभिन्न राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों में फंसे मजदूरों को वहां से बाहर जाने की अनुमति नहीं होगी। वे जहां भी हैं वहीं रहें।

गौरतलब हो कि देश में कोरोना के प्रसार को रोकने के लिए 21 दिनों का लॉकडाउन लागू किया गया था, जिसे बढ़ाकर तीन मई तक कर दिया गया है। लॉकडाउन के कारण विभिन्न राज्यों में प्रवासी मजदूर फंस गए हैं। इन मजदूरों की सरकार से मांग है कि वे उन्हें उनके घर तक सकुशल पहुंचाया जाए। 

बता दें कि देशभर में कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों की संख्या में लगातार बढ़ोतरी हो रही है। केंद्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय की ओर से जारी आंकड़ों के मुताबिक, पिछले 24 घंटे में 1334 नए मामले सामने आए हैं और 27 लोगों की मौत हुई है। 

इसके बाद देशभर में कोरोना पॉजिटिव मामलों की कुल संख्या 15,712 हो गई है। जिसमें 12,974 सक्रिय हैं, 2231 लोग स्वस्थ हो चुके हैं या उन्हें अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है और 507 लोगों की मौत हो गई है।  
 

 

कोरोना वायरस का प्रकोप थमने का नाम नहीं ले रहा है। वायरस के प्रसार को रोकने के लिए राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन लागू किया गया है। इस कारण बहुत से प्रवासी मजदूर दूसरे राज्यों में फंस गए हैं। वहीं, गृह मंत्रालय ने निर्देश दिया है कि ये मजदूर फंसे हुए राज्यों से बाहर नहीं जा सकते हैं।

गृह मंत्रालय ने रविवार को राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों में फंसे मजदूरों की आवाजाही के लिए स्टैंडर्ड ऑपरेटिंग सिस्टम जारी किया है। इसमें कहा गया है कि वर्तमान में विभिन्न राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों में फंसे मजदूरों को वहां से बाहर जाने की अनुमति नहीं होगी। वे जहां भी हैं वहीं रहें।

गौरतलब हो कि देश में कोरोना के प्रसार को रोकने के लिए 21 दिनों का लॉकडाउन लागू किया गया था, जिसे बढ़ाकर तीन मई तक कर दिया गया है। लॉकडाउन के कारण विभिन्न राज्यों में प्रवासी मजदूर फंस गए हैं। इन मजदूरों की सरकार से मांग है कि वे उन्हें उनके घर तक सकुशल पहुंचाया जाए। 

बता दें कि देशभर में कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों की संख्या में लगातार बढ़ोतरी हो रही है। केंद्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय की ओर से जारी आंकड़ों के मुताबिक, पिछले 24 घंटे में 1334 नए मामले सामने आए हैं और 27 लोगों की मौत हुई है। 

इसके बाद देशभर में कोरोना पॉजिटिव मामलों की कुल संख्या 15,712 हो गई है। जिसमें 12,974 सक्रिय हैं, 2231 लोग स्वस्थ हो चुके हैं या उन्हें अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है और 507 लोगों की मौत हो गई है।  
 

 






Source link