♦ आपली इयत्ता निवडा ♦

१ ली २ री ३ री ४ थी ५ वी ६ वी ७ वी ८ वी ९ वी १० वी

Chariot Construction Will Soon Begin For Lord Jagannath’s Rath Yatra: Managing Committee – भगवान जगन्नाथ की रथ यात्रा के लिए रथ निर्माण जल्द होगा शुरू: प्रबंध समिति




न्यूज डेस्क, अमर उजाला, भुवनेश्वर
Updated Mon, 04 May 2020 08:32 PM IST

ख़बर सुनें

श्री जगन्नाथ मंदिर प्रबंध समिति (एसजेटीएमसी) ने 23 जून को होने वाली भगवान जगन्नाथ की वार्षिक रथ यात्रा के लिए रथ के निर्माण को आगे बढ़ाने का फैसला लिया।

पुरी गजपति महाराज दिव्य सिंह देब की अध्यक्षता में एक एसजेटीएमसी बैठक में यह फैसला लिया गया।

दरअसल देश में कोरोना वायरस के प्रकोप को रोकने के लिए लगाए गए लॉकडाउन के कारण रथ को बनाने का काम शुरू नहीं हो सका।

देब ने बैठक के बाद पत्रकारों से कहा, “प्रबंध समिति की बैठक ने आज सर्वसम्मति से रथ निर्माण का फैसला किया क्योंकि यह धार्मिक कार्य नहीं है, बल्कि निर्माण से जुड़ी गतिविधि है।”

हालांकि, उन्होंने यह साफ कर दिया कि इस मामले पर अंतिम फैसला राज्य सरकार की तरफ से ही लिया जाएगा।

देब ने कहा कि बैठक में यह फैसला लिया गया कि रथों का निर्माण कोई धार्मिक कार्य नहीं है और यह निर्माण कार्य से जुड़ा हुआ है, जिसे गृह मंत्रालय की तरफ से तीनों क्षेत्रों में- रेड, ऑरेंज और ग्रीन जोन में किए जाने की अनुमति दी गई है। 

श्री जगन्नाथ मंदिर प्रबंध समिति (एसजेटीएमसी) ने 23 जून को होने वाली भगवान जगन्नाथ की वार्षिक रथ यात्रा के लिए रथ के निर्माण को आगे बढ़ाने का फैसला लिया।

पुरी गजपति महाराज दिव्य सिंह देब की अध्यक्षता में एक एसजेटीएमसी बैठक में यह फैसला लिया गया।

दरअसल देश में कोरोना वायरस के प्रकोप को रोकने के लिए लगाए गए लॉकडाउन के कारण रथ को बनाने का काम शुरू नहीं हो सका।

देब ने बैठक के बाद पत्रकारों से कहा, “प्रबंध समिति की बैठक ने आज सर्वसम्मति से रथ निर्माण का फैसला किया क्योंकि यह धार्मिक कार्य नहीं है, बल्कि निर्माण से जुड़ी गतिविधि है।”

हालांकि, उन्होंने यह साफ कर दिया कि इस मामले पर अंतिम फैसला राज्य सरकार की तरफ से ही लिया जाएगा।

देब ने कहा कि बैठक में यह फैसला लिया गया कि रथों का निर्माण कोई धार्मिक कार्य नहीं है और यह निर्माण कार्य से जुड़ा हुआ है, जिसे गृह मंत्रालय की तरफ से तीनों क्षेत्रों में- रेड, ऑरेंज और ग्रीन जोन में किए जाने की अनुमति दी गई है। 




Source link